PradhanMantri Shramyogi Mandhan Yojana क्या है? (PM SYM in Hindi)

इस आर्टिकल के माध्यम से मैं आपको बताना चाहता हूँ कि PradhanMantri Shramyogi Mandhan Yojana क्या है  इसमें निवेश के सम्बन्ध में हिंदी में पूर्ण विस्तृत जानकारी देने का प्रयास कर रहा हूँ। आप में से बहुत से लोग इस योजना में अपने बेहतर भविष्य हेतु निवेश करना चाहते हैं किन्तु सम्पूर्ण लाभ व हानि की जानकारी न होने के कारण लोग इसमें निवेश करने से बचते हैं।

विभिन्न असंगठित क्षेत्रों में कार्य कर रहे कामगारों के सुरक्षित भविष्य को ध्यान में रखते हुये भारत सराकर द्वारा एक नयी पेंशन योजना की शुरुआत की है‚ जिसे PradhanMantri Shramyogi Mandhan Yojana के नाम से जाना जाता है।

इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को जानकारी प्राप्त होगी कि कौन–कौन लोग इस योजना में निवेश कर सकते हैंॽ इस योजना से आपको कितनी पेंशन प्राप्त होगीॽ आपको अपनी आयु के अनुसार इस योजना में कितना निवेश करना होगा ॽ

PradhanMantri Shramyogi Mandhan Yojana क्या है ॽ (PM SMY)

भारत सरकार ने विभिन्न असंगठित क्षेत्र में कार्य कर रहे कामगारों के सुरक्षित भविष्य को ध्यान रखते हुये इस योजना की शुरुआत की है। यह योजना मूलतः एक पेंशन योजना है|

इस योजना से पेंशन प्राप्त करने के लिये आपको अपनी आयु के अनुसार प्रत्येक माह एक निश्चित धनराशि निवेशित करनी होगी। आपके द्वारा किये गये निवेश के बाद जब आप 60 वर्ष की आयु पूर्ण कर लेगें उसके बाद आपको 3,000 रुपये की मासिक पेंशन प्रदान की जायेगी।  यह पेंशन आपको जीवन भर प्रत्येक माह प्राप्त होती रहेगी| जिसकी गारंटी भारत सरकार द्वारा दी जाती है|

आप द्वारा की जाने वाली निवेश की धनराशि आपकी आयु से निर्धारित की जाती है| जितना निवेश आप द्वारा इस योजना में किया जाता है‚ उतना ही निवेश सरकार भी आपके लिये करती है।

इसे भी पढ़ेंः– Sukanya Samriddhi Yojana क्या है ॽ

PM SYM में निवेश के क्या लाभ हैं?

  1. आपको 60 वर्ष की आयु तक ही निवेश करना होगा।
  2. सरकार भी आप द्वारा निवेश की जा रही धनराशि के बराबर निवेश करेगी।
  3. जैसे ही आपकी आयु 60 वर्ष पूर्ण हो जायेगी‚ आपको 3‚000 रु० की पेंशन प्रतिमाह प्राप्त होने लगेगी।
  4. इस योजना के अन्तर्गत आपको आजीवन पेंशन प्राप्त होगी।
  5. आपके मृत्यु के पश्चात् आपकी पत्नी को पेंशन के रुप में 1,500 रुपये प्राप्त होते रहेंगें |
  6. आपकी पत्नी की मृत्यु के पश्चात् परिवार के किसी अन्य सदस्य को किसी प्रकार की पेंशन देय नहीं होगी |

PradhanMantri Shramyogi Maandhan Yojana में कौन निवेश कर सकता हैॽ

  1. इस योजना के लिये आपकी आयु 18 से 40 वर्ष के मध्य होनी चाहिए|
  2. आपकी मासिक आय 15,000 रुपये से कम होनी चाहिए‚ तभी आप इस योजना में निवेश कर सकते हैं|
  3. आपके पास कम से कम एक बचत खाता (Savings Bank Account) होना चाहिए|
  4. आपके द्वारा Income Tax की देयता न बनती हो‚ तभी आप इस योजना में निवेश करने के पात्र होगें |
  5. यदि आप असंगठित क्षेत्र में कार्य करते हैं‚ तभी आप इस योजना में निवेश कर सकते हैं |
  6. आपके पास EPF‚ GPF‚ NPS‚ ESIC खाता नहीं होना चाहिए‚ तभी आप इस योजना में निवेश कर सकते हैं|
  7. इस योजना में निवेश करने के लिये आपो पास आधार नंबर होना चाहिए|
  8. आपके पास कम से कम एक मोबाइल नंबर अवश्य होना चाहिये |

PM SYM में आपको कितना निवेश करना होगा ?

इस योजना में निवेश आपकी आयु पर निर्भर करता है|

यदि आपकी आयु येाजना में निवेश के समय 18 वर्ष होगी, तो 60 वर्ष की आयु से  3,000 रुपये की पेंशन प्राप्त करने के लिए आपको प्रत्येक माह 55 रुपये के निवेश करना होगा |

यह निवेश आपको 60 वर्ष की आयु तक प्रत्येक माह करना होगा|

आयु 20 वर्ष होने पर प्रत्येक माह 61 रुपये के निवेश करना होगा|

25 वर्ष होने पर प्रत्येक माह 80 रुपये के निवेश करना होगा|

आयु 30 वर्ष होने पर प्रत्येक माह 105 रुपये के निवेश करना होगा|

35 वर्ष होने पर प्रत्येक माह 150 रुपये के निवेश करना होगा|

आयु 40 वर्ष होने पर प्रत्येक माह 200 रुपये के निवेश करना होगा|

यहाँ यह भी ध्यान रखना होगा कि योजना के प्रारम्भ में आपकी अपनी के आयु के अनुसार जितना पहला निवेश आप द्वारा किया जाता है‚ वही निवेश आपको 60 वर्ष की आयु तक करना होगा।

सरकार भी आप द्वारा निवेश की जा रही धनराशि के बराबर निवेश करेगी।

इसे भी पढ़ेंः–How to invest online in NPS?

PM SYM खाता कैसे खोलें ?

इस योजना में निवेश करने के लिये आपको भारत सरकार द्वारा Digital India के अन्तर्गत संचालित किये जा रहे Common Service Center ( CSC )  में जाकर इस योजना का खाता खुलवा सकते हैं।

योजना में खाता खुलवाने के लिये आपको निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगीः–

  1. बचत खाते की पासबुक या एक चेक।
  2. आधार कार्ड।
  3. आधार कार्ड से लिंक आपका मोबाइल नम्बर।
  4. आपकी आयु के अनुसार निवेश हेतु आवश्यक धनराशि।

जब आप PM–SYM योजना के अन्दर अपना खाता खुलवायेगें तभी आपकी जन्मतिथि के अनुसार आपके निवेश की गणना हो जायेगी। जिससे आप अपने निवेश से समबिन्धित पहला भुगतान कर सकेगें। उसी दौरान आपको अपने बचत खाते से सम्बिन्धित एक auto-debit फॉर्म भरकर जमा करना होगा| जिससे आपको आगे की मासिक किश्तें स्वतः ही आपके खाते से कट जायेगी|

  •  PM SYM account number भी उपलब्ध कराया जायेगा।
  • साथ ही आपको इस योजना का कार्ड भी दिया जाएगा|

PM SYM खाता में निवेश कैसे करें ?

  • इस योजना में खाता खोलते समय आपको एक खाता संख्या उपलब्ध कराया जायेगा।
  • खाते में आपको प्रत्येक माह तय निवेश राशि स्वयं जमा करनी होगी।
  • अपने बचत खाते से योजना में प्रत्येक माह स्वतः निवेश करने के लिये आपको Auto-Debit Form भरना होगा।
  • यदि किसी कारण से आपके PM-SYM खाते में निवेश नहीं हो पाता है‚ तब ऐसी स्थिति में आपको अपने खाते में पुराना भुगतान करके उसे पुनः प्रारम्भ कर सकते हैं| ऐसी स्तिथि में आपको जुर्माने के रुप मे कुछ पेनल्टी भी देनी पड़ सकती है|

इसे भी पढ़ेंः–NPS से आंशिक वापसी के नियम

PM SYM में निवेशक की मृत्यु की स्थिति में क्या करें ?

इसमें भी 02 तरह की स्थितियां उत्पन्न होती हैंः–

  • 60 की आयु से पूर्व मृत्यु की स्थिति।
  • 60 के पश्चात् मृत्यु की स्थिति।

1- 60 वर्ष की आयु के पूर्व मृत्यु की स्थितिः–

इस स्थिति में दो प्रकार के विकल्प उपलब्ध हैं|

पहला विकल्प: इस स्थिति में निवेशक की पत्नी (या पति) खाते को जारी रख सकते हैं| भुगतान से सम्बन्धित मासिक किस्त निवेशक की आयु के अनुसार ही देय रहेगी।  यदि मृत्यु के समय निवेशक की आयु 55 वर्ष और निवेशक की पत्नी की आयु 45 वर्ष है‚ तो निवेशक की 05 वर्ष और निवेश करना होगा और उसके पश्चात 3,000 रुपये की पेंशन चालू हो जायेगी|

यदि मृत्यु के समय निवेशक की आयु 40 वर्ष है और उसके पति की आयु 50 वर्ष है‚ तो निवेशक की आयु के अनुरुप 20 वर्ष निवेश करना होगा। तब जाकर 3,000 रुपये की पेंशन चालू हो जायेगी|

दूसरा विकल्प: निवेशक की मृत्यु के पश्चात पत्नी (या पति) खाता बंद कर सकते हैं| इस स्थिति में निवेश की गयी राशि और उसमें प्राप्त हुये ब्याज को पत्नी या पति को एक-मुश्त दे दिया जाएगा| यहाँ आपको यह ध्यान रखना होगा कि ऐसी स्तिथि में सरकार द्वारा किये गए योगदान का कोई भी अंश आपको नहीं दिया जायेगा।

इसके अतिरिक्त यदि  किसी वजह से निवशक स्थायी रूप से विकलांग हो जाता है, इस स्थिति में निवेशक की पत्नी या पति के पास वही विकल्प उलपब्ध रहेंगें जो निवेशक की मृत्यु होने पर होते हैं|

2- 60 वर्ष की आयु के पश्चात् मृत्यु की स्थितिः–

  • यदि निवेशक की मृत्यु 60 वर्ष की आयु के बाद होती है‚ तो उसकी पत्नी या पति को आधी पेंशन मु० 1,500 रुपये मिलती रहेगी।
  • यदि निवेशक की पत्नी या पति की मृत्यु निवेशक की मृत्यु के पहले हो जाती है तो निवेशक की मृत्यु के पश्चात् किसी को भी कोई भुगतान प्राप्त नहीं होगा।
  • निवेशक और उसकी पत्नी या पति दोनो की मृत्यु की दशा में परिवार के किसी अन्य को लाभ प्राप्त नहीं होगा।

क्या PradhanMantri Shramyogi Mandhan Yojana  का खाता 60 वर्ष से पूर्व बंद किया जा जा सकता है ॽ

  • निवेशक 60 की आयु के पूर्व भी इस योजना का खाता बन्द कर सकता है।
  • यदि निवेशक 10 पूरे होने से पहले खाता बंद करता है‚ तो उसके द्वारा कुल निवेशित धनराशि पर बचत खाते के अनुसार ब्याज लगाकर धनरशि वापक कर दी जायेगी।
  • यदि निवेश योजना में 10 पूरे होने के पश्चात्  खाता बंद करता है‚ तो उसके द्वारा कुल निवेशित धनराशि पर प्राप्त कुल ब्याज के साथ धनराशि वापस कर दी जायेगी।
  • किसी भ्री दशा में सरकार द्वारा आपके खाते में किया गया निवेश आपको देय नहीं होगा।

PM-SYM और Atal Pension Yojana (APY) में क्या अंतर है?

इन पेंशन योजनाओं में कुछ समानताएं भी हैं जैसेः–

  • दोनों ही योजनाएं वर्तमान में भारत सरकार द्वारा संचालित की जा रही प्रमुख पेंशन योजनाओं में हैं।
  • दोनों ही पेंशन योजनाएं देखने व सुनने में एक जैसी ही लगती हैं।
  • आपकों दोनों ही पेंशन योजनाओं में आपको 60 वर्ष की आयु तक निवेश करना होता है|
  • 60 वर्ष के तुरंत बाद पेंशन प्राप्त होना शुरु हो जाती है।

इन पेंशन योजनाओं में अंतर भी हैं –

  • अटल पेंशन योजना में कोई भी निवेश कर सकता है|
  • PradhanMantri Shramyogi Mandhan Yojana में असंगठित क्षेत्रों में कार्य कर रहे कामगार ही निवेश कर सकते हैं|
  • अटल पेंशन योजना में आप मु० 1000 रुपये से 5000 रुपये तक की पेंशन का चयन कर सकते हैं।
  • PM-SMY में पेंशन राशि के रुप में केवल मु० 3000 रुपये का ही प्राविधान है|
  • अटल पेंशन योजना में सरकार किसी प्रकार का कोई निवेश नहीं करती है।
  • PM-SMY में आपके द्वारा किये गये निवेश के बराबर ही निवेश सरकार द्वारा भी किया जाता है।
  • अटल पेंशन योजना में आपको पेंशन मिलती है‚ बाद में वही पेंशन आपकी पत्नी⁄पति को और उसके बाद नामिनी को जमा धनराशि दे दी जाती है।
  • PM-SMY में आपको पेंशन मिलती है‚ बाद में उससे आधी पेंशन आपकी पत्नी⁄पति को दी जाती है।

आज आपने क्या सीखा ?

आज हमने यहॉ बिन्दुवार तरीके से सीखा कि PradhanMantri Shramyogi Mandhan Yojana क्या है  उम्मीद है आपको मेरी द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आई होगी और Pension से सम्बन्धित इस आर्टिकल में आपको कुछ नया सीखने को मिला होगा।

आप सभी से आशा है कि इस आर्टिकल को Facebook‚ Twitter आदि में शेयर कर अयह जानकारी साझा करेंगें। यदि आपको किसी भी प्रकार के Doubt हो तो आप मुझसे Comment एवं Email के माध्यम से पूछ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: