Kisan Vikas Patra

इस आर्टिकल के माध्यम से मैं आपको KVP ( Kisan Vikas Patra ) में  निवेश के सम्बन्ध में हिंदी में पूर्ण विस्तृत जानकारी देने का प्रयास कर रहा हूँ। आप में से बहुत से लोग किसान विकास पत्र  के माध्यम से अपने बेहतर भविष्य हेतु निवेश करना चाहते हैं किन्तु किसान विकास पत्र में निवेश के सम्पूर्ण लाभ व हानि की जानकारी न होने के कारण लोग इसमें निवेश करने से बचते हैं। जिस कारण से किसान विकास पत्र से सम्बन्धित समस्त जानकारी आपको इस आर्टिकल के माध्यम से देने का प्रयास कर रहा हॅू।

भारत सरकार द्वारा संचालित की जाने वाली मुख्य बचत योजनायेंः–

1- किसान विकास पत्र ( KVP )

2- पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड ( PPF )

3- सुकन्या समृधि योजना ( SSY )

4- राष्ट्रिय बचत सर्टिफिकेट ( NSC )

5- Employee प्रोविडेंट फण्ड ( EPF )

6- वरिष्ठ नागरिक बचत योजना

Small Saving Schemes

यह योजनायें भारत सरकार द्वारा संचालित होने वाली प्रमुख योजनाओं में हैं‚ जिनमें आप निवेश कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इन सभी योजनाओं के बारे में एक–एक कर हम जानकारी देने का प्रयास करेंगें। इन योजनाओं के अतिरिक्त भी कई बचत योजनायें संचालित है जैसे कि NPS Scheme, Recurring Deposit एवं Fixed Deposit इत्यादि।

इस आर्टिकल के माध्यम से हम KISAN VIKAS PATRA के बारे में चर्चा करने वाले हैं।

KISAN VIKAS PATRA In Hindi

किसान विकास पत्र ( KISAN VIKAS PATRA ) योजना को भारत सरकार द्वारा लघु बचत प्रमाणपत्र योजना के रूप में 1988 में संचालित किया गया था |  KISAN VIKAS PATRA योजना का मुख्य उद्देश्य लोगों को दीर्घकालिक वित्तीय अनुशासन अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना था।

योजना के प्रारम्भ के समय यह योजना किसानों भाइयो को दृष्टिगत रखते हुए संचालित की गयी थी, इसलिए इसका नाम किसान विकास पत्र रखा गया था। वर्तमान समय में कोई भी व्यक्ति जो इसमें निवेश की पात्रता एवं मानदंडों को पूरा करता है, वह इसमें निवेश कर सकता है।

किसान विकास पत्र पोस्ट ऑफिस स्कीम 113 महीने के पूर्व निर्धारित कार्यकाल के साथ आता है और व्यक्तियों को सुनिश्चित रिटर्न देता है। कोई भी व्यक्ति भारत के डाकघरों और चयनित सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की किसी भी शाखा से प्रमाणीकरण के रूप में इसका लाभ उठा सकता है।

KISAN VIKAS PATRA में होने वाला जोखिम

जब कोई व्यक्ति किसी भी योजना के अन्तर्गत अपनी बचत की हुयी धनराशि को निवेशित करता है, तो उसके मन में सर्वप्रथम एक ही प्रश्न आता है कि “क्या इस योजना में किसी प्रकार का जोखिम है, जिससे उसके द्वारा जमा की गयी धनराशि में नुकसान होने की कोई सम्भावना हो ?”

तो आपको बताते चलें कि KISAN VIKAS PATRA ( KVP )  योजना उन बचत राशियों में से एक है, जो निवेशित धनराशि पर किसी भी जुड़े जोखिम के डर के बिना व्यक्तियों को समय के साथ निवेशित धनराशि में वृद्धि करने में मदद करती हैं। यह योजना भारत सरकार द्वारा चलायी गई सबसे लोकप्रिय बचत योजनाओं में से एक है, जो बचत जुटाने और व्यक्तियों में निवेश की आदत को विकसित करने के लिए संचालित होती है।

KISAN VIKAS PATRA योजना के प्रकार ?

KVP  योजना के अन्तर्गत तीन प्रकार के खाते होते हैं –

एकल धारक प्रकार –

इस तरह के खाते में KISAN VIKAS PATRA प्रमाण पत्र एक वयस्क को आवंटित किया जाता है। एक वयस्क भी नाबालिग की ओर से एक प्रमाण पत्र का लाभ उठा सकता है, ऐसे में उनके नाम पर प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा।

संयुक्त एक प्रकार –

इस तरह के खाते में, दो व्यक्तियों के नाम पर KISAN VIKAS PATRA प्रमाण पत्र जारी किया जाता है, दोनों वयस्क हैं। परिपक्वता की स्थिति में, दोनों खाताधारकों को पे-आउट प्राप्त होगा। हालांकि, केवल एक ही खाता धारक की मृत्यु की स्थिति में उसे प्राप्त करने का हकदार होगा।

संयुक्त बी प्रकार –

इस तरह के खाते में दो वयस्क व्यक्तियों के नाम पर KISAN VIKAS PATRA प्रमाण पत्र  जारी किया जाता है। संयुक्त ए प्रकार के खाते के विपरीत, परिपक्वता पर, दोनों खाताधारकों या उत्तरजीवी में से किसी एक को पे-आउट प्राप्त होगा।

KISAN VIKAS PATRA योजना में किसे निवेश करना चाहिए?

जो भी व्यक्ति KISAN VIKAS PATRA में निवेश करना चाहते हैं‚ वे अपने निकटतम डाकघर में जाकर इसमें अपना निवेश कर सकते हैं। यह योजना मुख्यतः उस ग्रामीण आबादी को ध्यान में रखकर संचालित की गयी‚ जिनके पास कोई बैंक खाता नहीं था‚ किन्तु वर्तमान समय में बहुत ही कम ऐसे लोग होंगें जो बैंक खाता नहीं रखते हैं।

इस योजना में कम जोखिम होने के चलते निवेशक इस योजना को अपना पैसा सुरक्षित रूप से निवेश करने के लिए एक उपयुक्त विकल्प पाएंगे।

ऐसे वयक्ति जो अपने वित्तीय लक्ष्यों की पूर्ति करना चाहते हैं और कम जोखिम के आधार पर निवेश करना चाहते हैं, ऐसे सभी व्यक्ति जो 18 वर्ष से अधिक आयु के हैं वे सभी  KISAN VIKAS PATRA डाकघर योजना में निवेश करने पर विचार कर सकते हैं।

KISAN VIKAS PATRA योजना के लिए पात्रता

इस योजना का लाभ उठाने के लिये आपको निम्न मापदण्डों काे पूरा करना होगाः–

  • आवेदक भारत का निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • वयस्क आवेदक नाबालिग की ओर से आवेदन कर सकते हैं।
  • एनआरआई और एचयूएफ को केवीपी योजना में निवेश करने के लिए योग्य नहीं माना जाता है।
  • कंपनियां इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएंगी।

KISAN VIKAS PATRA योजना के लाभ

इस योजना के अन्तर्गत निवेश करने वाले लोगों को कई प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं‚ जिनका विवरण निम्नवत् हैः–

Secure Return in KVP:

  • इस योजना में सरकार प्रत्येक वित्तीय वर्ष में एक निश्चित ब्याज तय करती है।
  • निवेश की गयी धनराशि में एक निश्चित रिटर्न प्राप्त होता है।
  • यह योजना शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव के अन्तर्गत आने वाले जोखिमों से मुक्त है।

Compound Interest In Kisan Vikas Patra :

KVP ( Kisan Vikas Patra ) स्कीम की ब्याज दर प्रत्येक वित्तीय वर्ष के अनुसार अलग-अलग तय की जाती है, और इस तरह की विविधताएं उस वर्ष पर निर्भर करती हैं जिस वर्ष कोई व्यक्ति इसमें निवेश करता है। वित्तीय वर्ष 2020-2021 के लिए ब्याज दर 6.9% है। निवेशित राशि पर अर्जित ब्याज को वार्षिक रूप से बदलाव किया जाता है, जिससे व्यक्तियों को अधिक लाभ मिलता है।

Kisan Vikas Patra Maturity period:

किसान विकास पत्र योजना का Maturity Period 113 महीने का होता है। 113 की अवधि पूर्ण होने के उपरान्त इस योजना के अन्तर्गत निवेशित धनराशि Mature  हो जाती है‚ जिसके बाद आप कभी भी आप अपनी कुल धनराशि निकाल सकते हैं। व्यक्ति Maturity Period पूर्ण होने के उपरान्त जब तक अपनी निवेश की राशि नहीं निकालता है‚ तब तक का पूर्ण ब्याज उसे प्राप्त होता रहेगा।

निवेश की धनराशिः–

  • इस योजना में निवेश की कम से कम धनराशि मु० 1,000.00 रु० एवं अधिकतम धनराशि की कोई सीमा नहीं है।
  • निवेश धनराशि मु० 50,000.00 रु० से अधिक होने पर निवेशक को अपने PAN Card का विवरण उपलब्ध कराना होगा।
  • निवेश करने के उपरान्त धनराशि को बढ़ाना चाहते है तो आपको अपने शहर के प्रधान डाकघर से सम्पर्क करना होगा।

टैक्स विवरणः–

  • निवेशित धनराशि Mature होने पर निकाली गई राशि को टीडीएस पर कर कटौती से छूट दी जाती है।
  • KVP Scheme धारा 80 सी के तहत उल्लिखित किसी भी कर कटौती का हकदार नहीं है।

Interest Rate of Kisan Vikas Patra 

Kisan Vikas Patra में ब्याज तिमाही एवं वार्षिक रुप से बदलता रहता है। पिछली कुछ तिमाहियों के लिए KVP योजना ब्याज दर एवं समय का  चार्ट नीचे दी गई तालिका में दर्शाया गया है़–

Interest rates Details

Source:- indiapost.gov.in

आज आपने क्या सीखा ?

आज हमने यहॉ बिन्दुवार तरीके से सीखा कि Kisan Vikas Patra  उम्मीद है आपको मेरी द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आई होगी और Small Saving Schemes से सम्बन्धित इस आर्टिकल में आपको कुछ नया सीखने को मिला होगा।

आप सभी से आशा है कि इस आर्टिकल को Facebook‚ Twitter आदि में शेयर कर अयह जानकारी साझा करेंगें। यदि आपको किसी भी प्रकार के Doubt हो तो आप मुझसे Comment एवं Email के माध्यम से पूछ सकते हैं।

Leave a Comment

%d bloggers like this: